fbpx
बुधवार , अक्टूबर 27 2021
Breaking News
Phone Panchayat

कोरोना से प्रभावित अर्थव्यवस्था को गति देने वाला होगा प्रदेश का बजट : मुख्यमंत्री

राज्य स्तरीय कर परामर्शदात्री समिति की बैठक
कोरोना से प्रभावित अर्थव्यवस्था को गति देने वाला होगा प्रदेश का बजट : मुख्यमंत्री
जयपुर, 5 फरवरी। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार का प्रयास है कि राज्य का आने वाला बजट विकास को गति देने वाला एक संतुलित बजट हो। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी ने प्रदेश की अर्थव्यवस्था एवं राजस्व पर बुरा असर डाला है। इससे तेजी से उबरने की इच्छाशक्ति के साथ हम सभी के सुझावों के आधार पर ऎसा समावेशी बजट लाने का प्रयास करेंगे, जिससे राज्य में उद्योगों और निवेश को प्रोत्साहन मिले, रोजगार के अवसरों में बढ़ोतरी हो तथा समाज के हर वर्ग की उन्नति हो।
श्री गहलोत शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से राज्य स्तरीय कर परामर्शदात्री समिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने प्रदेश के विभिन्न औद्योगिक एवं व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों से राज्य बजट 2021-22 को लेकर सुझाव लिए।
राजस्व पर विपरीत असर के बावजूद हर वर्ग को दी राहत
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से चली लंबी जंग के कारण देश के सभी राज्यों की राजस्व आय प्रभावित हुई है। राजस्थान भी इसके विपरीत असर से जूझ रहा है। साथ ही केन्द्र से जीएसटी में राज्य को पूरा हिस्सा भी नहीं मिल रहा है। हाल ही में केन्द्र सरकार ने बजट में पेट्रोल एवं डीजल पर सैस लगाया है और बेसिक एक्साइज डयूटी को लगातार कम किया जा रहा है, लेकिन स्पेशल एक्साइज डयूटी और एडिशनल एक्साइज डयूटी बढ़ाई जा रही है। इसके कारण डिविजिएबल पूल के रूप में राज्यों को मिलने वाला हिस्सा काफी घट गया है। अधिकतर केन्द्र प्रवर्तित योजनाओं में भी राज्य का हिस्सा बढ़ाते हुए केन्द्र के अंश को कम किया गया है। इन सबका प्रतिकूल असर राज्यों के राजस्व पर हो रहा है। इन तमाम आर्थिक चुनौतियों के बावजूद हमारी सरकार ने पेट्रोल एवं डीजल पर 2 प्रतिशत वैट कम कर आमजन को महंगाई की मार से राहत दी है। इतना ही नहीं कोरोना काल के दौरान सर्वाधिक प्रभावित पर्यटन एवं होटल उद्योग तथा बस ऑपरेटर्स सहित अन्य वर्गाें को राहत देने में कोई कमी नहीं छोड़ी।
बेहतर वित्तीय प्रबंधन से करेंगे चुनौती का सामना
मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान के कोरोना प्रबंधन की सराहना पूरे देश में हुई है। पिछले करीब एक साल से सभी राजनीतिक दलों के जनप्रतिनिधियों, धर्मगुरूओं, सोशल एक्टिविस्टों, व्यापारिक संगठनों सहित तमाम प्रदेशवासियों से हमें भरपूर सहयोग एवं समर्थन मिला है। आगे भी इसी भावना के साथ हम सभी के सहयोग से इन मुश्किल आर्थिक हालातों का सामना बेहतर वित्तीय प्रबंधन से करेंगे। उन्होंने कहा कि पूरा देश कोरोना के कारण आर्थिक दिक्कतों का सामना कर रहा है, ऎसे में उद्योग जगत की बड़ी भूमिका है। वे ऎसे सुझाव दें, जिनसे अर्थव्यवस्था को गति मिल सके। श्री गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार उद्योगों को प्रोत्साहन देने के लिए हर पहलू पर काम कर रही है।
ऊर्जा मंत्री श्री बी.डी. कल्ला ने कहा कि कोरोना की विपरीत परिस्थितियों के बावजूद प्रदेश के उद्यमियों ने उत्पादन बढ़ाने में पूरा सहयोग किया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार उद्यमियों की बिजली से संबंधित समस्याओं का सकारात्मक रूप से समाधान करने का प्रयास कर रही है। हमारी सरकार आने के बाद रात्रिकालीन बिजली की दरों में एक रूपये प्रति यूनिट की कमी की गई है। उन्होंने कहा कि उद्योगों को प्रोत्साहन देने के लिए उद्यमियों के वाजिब सुझावों पर अमल करने का प्रयास किया जाएगा।
उद्योग मंत्री श्री परसादीलाल मीणा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में राज्य सरकार ने उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए वन स्टॉप शॉप, रिप्स-2019, नई औद्योगिक नीति, एमएसएमई एक्ट जैसे कई महत्वपूर्ण नीतिगत फैसले किए हैं। इनसे प्रदेश में निवेश का वातावरण बनने के साथ ही उद्यमों की स्थापना में आसानी हुई है। उन्होंने कहा कि उद्योगों के विकास के लिए राज्य सरकार उपखण्ड स्तर तक औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने का प्रयास कर रही है।
प्रमुख शासन सचिव वित्त श्री अखिल अरोरा ने बजट को अधिक समावेशी बनाने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि उपयोगी सुझावों को राज्य बजट में शामिल करने का प्रयास किया जाएगा।
इस अवसर पर सीआईआई, फिक्की, एसोचैम, पीएचडी चैम्बर ऑफ कॉमर्स, चैम्बर ऑफ कॉमर्स, फोर्टी, सहित पर्यटन, खाद्य पदार्थ व्यापार, एग्रीकल्चर इण्डस्ट्री, ऑयल इण्डस्ट्री, हैण्डीक्राफ्ट, कपड़ा उद्योग, सीमेंट मैन्यूफैक्चरर्स, मार्बल एवं स्टील उद्योग सहित विभिन्न क्षेत्रों से जुडे़ औद्योगिक संगठनों के प्रतिनिधियों एवं व्यापार तथा उद्योग से जुडे़ विशेष आमंत्रित सदस्यों ने आगामी राज्य बजट को लेकर सुझाव दिए। सभी ने राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे कोरोना प्रबंधन तथा उद्योगों के प्रति सकारात्मक रवैये की सराहना की।
बैठक में मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य, मुख्यमंत्री के सलाहकार श्री गोविंद शर्मा, शासन सचिव वित्त (राजस्व) सहित संबंधित विभागों के उच्चाधिकारी भी उपस्थित थे।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe
Phone Panchayat

Check Also

पंचायतीराज विभाग के निदेशक ने टोंक जिले की ग्राम पंचायत ललवाड़ी का किया दौरा, प्रशासन गांवो के संग अभियान से आमजन को मिल रही है राहत

Description पंचायतीराज विभाग के निदेशक ने टोंक जिले की ग्राम पंचायत ललवाड़ी का किया दौरा,प्रशासन …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com