नगर परिषद गंगापुर सिटी में भ्रष्टाचार का बोलबाला, वार्ड 48 के पार्षद विनोद गुप्ता ने दिया इस्तीफा

नगर परिषद गंगापुर सिटी में भ्रष्टाचार का बोलबाला, वार्ड 48 के पार्षद विनोद गुप्ता ने दिया इस्तीफा

नगर परिषद गंगापुर सिटी के वार्ड 48 के पार्षद विनोद कुमार गुप्ता ने परिषद में हो रहे घोर अनियमितताओं और भ्रष्टाचार के खिलाफ जोरदार आवाज उठाई है। पार्षद गुप्ता ने बताया कि उन्होंने अपने वार्ड के अंतर्गत विकास कार्यों के लिए कई बार नगर परिषद को आवेदन दिए, परन्तु उन्हें निरंतर नजरअंदाज किया गया।

पार्षद गुप्ता के अनुसार, उन्होंने बार-बार नगर परिषद के अंतर्गत हो रहे छोटे-मोटे विकास कार्यों और सफाई की ओर ध्यान आकर्षित करने की कोशिश की, लेकिन हर बार परिषद की लापरवाही और भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया। नगर परिषद की लाइट्स ठीक नहीं हो सकीं और सफाई व्यवस्था भी चरमरा गई है।

यह भी पढ़ें :   Indian Railways: रेलवे मजिस्ट्रेट कार्यवाही बेअसर: नहीं रुका अवैध पानी का कारोबार

विनोद कुमार गुप्ता का आरोप है कि परिषद की निष्क्रियता और भ्रष्टाचार की वजह से उनके वार्ड की जनता को अंधेरे में रहना पड़ रहा है और गंदगी से जूझना पड़ रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि वार्ड के अंदर विकास कार्य सही ढंग से नहीं होने के कारण लोगों का जीना मुहाल हो गया है।

उन्होंने परिषद से गुहार लगाई है कि उनकी शिकायतों को गंभीरता से लिया जाए और वार्ड 48 में आवश्यक विकास कार्य जल्द से जल्द पूरे किए जाएं। उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगों को नजरअंदाज किया गया, तो वह जनता के हित के लिए बड़ा कदम उठाने से पीछे नहीं हटेंगे।

यह भी पढ़ें :   पंजाब में कैप्टन अमरेन्द्र सिंह के सरेंडर से राजस्थान में सचिन पायलट के समर्थक उत्साहित।

यह घटना नगर परिषद गंगापुर सिटी के प्रशासनिक ढांचे पर गंभीर सवाल खड़े करती है और यह दर्शाती है कि कैसे आम जनता के प्रतिनिधियों को भी अपने क्षेत्रों के विकास के लिए संघर्ष करना पड़ता है। अब देखना यह है कि नगर परिषद इस मामले पर क्या कदम उठाती है।