fbpx
Breaking News

सामाजिक दूरी का पालन करवाने के लिये प्रतिष्ठानों के बाहर बनाये जा रहे है गोले

सोशल डिस्टेसिंग का पाठ पढ़ाने के लिये नवाचार
गोले पर रहना है तो गोले में रहो अभियान का शुभारंभ
सामाजिक दूरी का पालन करवाने के लिये प्रतिष्ठानों के बाहर बनाये जा रहे है गोले
जयपुर, 02 दिसम्बर। कोरोना जनआंदोलन के तहत लोगों को सोशल डिस्टेसिंग रखने के प्रति जागरूक करने के लिये नगर निगम ग्रेटर जयपुर तथा जयपुर पुलिस द्वारा संयुक्त रूप से बुधवार को गोले पर रहना है तो गोले में रहो अभियान का शुभारंभ किया गया। यादगार से अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त यातायात श्री सतवीर चौधरी तथा उपायुक्त मालवीय नगर जोन ने अभियान का शुभारंभ किया।
इस अभियान के तहत लोगों को यह संदेश दिया जायेगा कि यदि गोले पर (धरती पर या इस लोक पर) रहना है तो कोरोना संक्रमण से बचे और इसके लिये एक दूसरे से एक निश्चित दूरी पर रहे। शुभारंभ समारोह पर अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त श्री सतवीर चौधरी ने कहा कि अतिरिक्त पुलिस आयुक्त श्री राहुल प्रकाश और पुलिस उपायुक्त यातायात आदर्श सन्धु की प्रेरणा से इस कार्यक्रम को शुरू किया गया है। इसके तहत लोगों को सामाजिक दूरी का पालन करने के लिये सचेत किया जायेगा।
उपायुक्त मालवीय नगर जोन श्री सुरेश चौधरी ने कहा कि जब तक वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक कोरोना संक्रमण से बचने के लिये मास्क पहनना और सामाजिक दूरी का पालन करना जरूरी है। लोग इन सावधानियों को अपने जीवन का हिस्सा बनाये इसके लिये ही इस अभियान का शुभारंभ किया गया है।
यादगार पर बनाये गये गोलेः-

यादगार में यातायात पुलिस से सम्बन्धित विभिन्न कार्यो के लिये लोगों का लगातार आना जाना रहता है। इस दौरान लाईनों में खड़े व्यक्ति सोशल डिस्टेसिंग का पालन करें तथा कोरोना संक्रमण से बचे। इसके लिये यातायात की विभिन्न खिड़कियों के बाहर 2-2 गज की दूरी पर गोले बनवाये गये। इसी प्रकार के गोले निगम क्षेत्र में विभिन्न प्रतिष्ठानों के बाहर बनवाये जायेगे।

इस दौरान अतिथियों ने सोशल डिस्टेसिंग का संदेश देने के लिये निकाली गई बाईक रैली को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। बाईक पर सवार ट्राफिक पुलिस के जवानों ने हाथ में गोले में रहो संदेश लिखी तख्तीया पकड़ रखी थी। इस दौरान कला जत्था कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से मास्क पहनने तथा सामाजिक दूरी का पालन करने का संदेश दिया।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe

Check Also

क्या लोगों की जान से ज्यादा है धरना प्रदर्शन।

किसानों के बॉर्डर जाम से दिल्ली में ऑक्सीजन पहुंचने में देरी। ऑक्सीजन के टैंकर जाम …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *