fbpx
Breaking News

मेडिकल कार्ड होने के बावजूद भी रेलवे ने उम्मीद कार्ड का होना अनिवार्य किया

मेडिकल कार्ड होने के बावजूद भी रेलवे ने उम्मीद कार्ड का होना अनिवार्य किया

उम्मीद कार्ड नहीं होने पर इलाज करने से किया मना गंगापुर सिटी
रेलवे में सेवानिवृत्त कर्मचारियों रेलवे चिकित्सालय में उपचार करवाने के लिए रेलवे बोर्ड के आदेश अनुसार उम्मीद कार्ड बनवाना आवश्यक हो गया है । यदि किसी पेंशनर्स के पास में उम्मीद कार्ड नहीं है तो रेलवे अस्पताल में उसका उपचार नहीं किया जा रहा है ।लेकिन अब ये उम्मीद कार्ड इन बुजुर्गवार रेलवे पेंशनर्स के लिए जी का जंजाल बन चुके हैं क्योंकि आज भी बहुत से ऐसे पेंशनर से जिनको सातवें वेतन आयोग के संशोधित पेंशन पे आर्डर नहीं मिले हैं जिसके कारण पेंशनर्स का उम्मीद कार्ड नहीं बन पा रहे हैं।&ठ्ठड्ढह्यश्च;<स्रद्ब1>रेलवे द्वारा सेवानिवृत्ति के समय पर दिए गए मेडिकल कार्डो के आधार पर रेलवे अस्पताल मे उपचार के लिए मना कर दिया गया है। यदि कोई पेंशनर्स रेलवे अस्पताल में जाकर डॉक्टरों से अपनी बीमारी का हवाला देकर इलाज की दरख्वास्त करता है तो उसको रेलवे बोर्ड के कानून पढ़ाऐ जाते हैं। गुरुवार को इस बारे में रेलवे पेंशनर्स एसोसिएशन के सचिव देवीलाल मीणा एवं अध्यक्ष याकूब खान ने वेस्ट सेंट्रल रेलवे एंप्लाइज यूनियन कार्यालय में यूनियन के मंडल उपाध्यक्ष नरेंद्र जैन एवं यूनियन पदाधिकारियों से मुलाकात की एवं समस्या के समाधान कराने के लिए ज्ञापन दिया।रेलवे पेंशनर्स एसोसिएशन के सचिव देवी लाल मीणा ने बताया कि कुछ सेवानिवृत्त रेलवे कर्मचारियों के पेंशन पे आर्डर आ गए हैं और उम्मीद कार्ड भी बने हैं लेकिन उम्मीद कार्डो में उन्हें रेल प्रशासन की गलती के कारण ओपीडी सुविधा से वंचित करने का उल्लेख कर दिया गया है। ऐसे में केवल कर्मचारी को गंभीर हालत में ही रेलवे अस्पताल में उपचार मिल रहा है। जबकि पुराने मेडिकल कार्डों में कर्मचारियों को ओपीडी व इंडोर इलाज की सुविधा देय मानी गई थी? ऐसे में यह बुजुर्गबार रेलवे के सेवानिवृत्त कर्मचारी अपने इलाज के लिए दर-दर भटक रहे हैं। यूनियन के मंडल उपाध्यक्ष नरेंद्र जैन ने आज इस बारे में यूनियन के महामंत्री मुकेश गालव से बातचीत कर तुरंत कार्रवाई करने के बारे में कहा। जैन ने कहा कि यूनियन रेलवे के इन सेवानिवृत्त कर्मचारियों के साथ अन्याय बर्दाश्त नहीं करेगी इस मुद्दे को उचित स्तर पर अति शीघ्र उठाया जाएगा और समस्या का समाधान करवाया जाएगा।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe

Check Also

शिक्षा विभाग में 60 हजार पदों पर होगी भर्ती बेरोजगारों को मिलेगा रोजगार

शिक्षा विभाग में 60 हजार पदों पर होगी भर्ती,बेरोजगारों को मिलेगा रोजगार

राज्य सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित होएं – शिक्षा राज्य मंत्री शिक्षा विभाग …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com