fbpx
Breaking News

बढ़ते पारे में बीमारियों से बचाव के लिए खूब करें पानी का सेवन-गंगापुर सिटी

बढ़ते पारे में बीमारियों से बचाव के लिए खूब करें पानी का सेवन-गंगापुर सिटी

स्कीन संबंधित बीमारी व डायरिया की हो सकती है समस्या, बाहर जाने से पहले बरतनी चाहिए सावधानी
अप्रैल माह का पहला सप्ताह बीतने के साथ ही गर्मी असर तेज हो गया है। पारा भी लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे में जानलेवा बीमारियों के साथ कई तरह की बीमारियों का सामना लोगों को करना पड़ता है। पानी की कमी से सबसे अधिक डायरिया होने का खतरा रहता है। डॉक्टरों के अनुसार डायरिया, पीलिया, टायफाइड सहित स्किन प्रॉब्लम आती है। ज्यादा पानी पीने के साथ ही बाहर जाने से पहले सावधानी रखनी चाहिए।डॉक्टरों से बात करने पर सामने आया कि डायरिया,पीलिया,टाइफाइड की समस्या आम हो जाती है। सामान्य चिकित्सालय के चिकित्सक डॉ.आरसी मीणा ने बताया कि बीमारियों से बचाव के लिए जरूरी है कि ज्यादा से ज्यादा पानी पिया जाए। पैथोजेन (साल्मोनेला: टाइफाइड बुखार,पारा टाइफाइड बुखार और प्वाइजनिंग जैसे संक्रमण फैलाने वाले कारक) पानी और खाने की चीजों को प्रदूषित करता है। पसीना आने से निकलता है साल्ट गर्मियों में ज्यादा पसीना आने से मिनिरल और साल्ट शरीर से निकल जाते हैं। इनकी पूर्ति के लिए नॉनअल्कॉहॉलिक फ्लूइड का प्रयोग हर घंटे पर सेवन करना चाहिए। अगर खाने में नमक की मात्रा कम है तो इसे बढ़ाने के लिए डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। इसके अलावा साल्ट वाले खाद्य पदार्थों का प्रयोग जरूरत के अनुसार करना चाहिए।
शराब से करें परहेज
डॉक्टरों के अनुसार तेज गर्मी में ज्यादा शराब पीने से बचना चाहिए। शराब की प्रकृति चीजों को जल्द सुखाने की होती है। ज्यादा शराब के सेवन से प्यास अधिक लगती है, अचानक से ज्यादा पानी पीना काफी खतरनाक हो सकता है। कईबार ऐसी स्थिति में जान भी जा सकती है।
सूक्ष्मकीट से खुजली की हो सकती है समस्या-खुजली सेक्रोप्टस स्क्रेबी नामक माइट (सूक्ष्मकीट) से पैदा होती है। यह सूक्ष्म परजीवी है और आमतौर पर नजर नहीं आती। गर्मी में पसीना ज्यादा निकलने और सार्वजनिक परिवहन के दौरान त्वचा की समस्या का खतरा हो सकता है। ऐसे में डॉक्टरा की सलाह अवश्य लें।ज्यादा मात्रा में मिलता पानी-मौसम के अचानक बदलाव से हमें सजग रहना चाहिए। शुरूआती गर्मी आपको तनाव में डाल सकती हैं। गर्मी में पानी से बचने के लिए इन फलों का प्रयोग किया जा सकता है। तरबूज, खरबूजा, स्ट्राबेरी और ग्रेपफू्रट में पानी की मात्रा 90 प्रतिशत से ज्यादा होती है।
शरीर में नहीं आने दें पानी की कमी सामान्य चिकित्सालय के चिकित्सक डॉ. आरसी मीणा ने बताया कि शरीर में किसी भी तरह पानी की कमी नहीं होने दें। पोषक और जल्दी पचने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन अधिक करें साथ ही पानी उबाल कर एवं ज्यूस फिल्टर के पानी से बना हुआ पिए। शारीरिक रूप से कमजोर लोगों को परेशानी अधिक होती है, बच्चों और बुजुर्गों का खास ध्यान रखें।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe

Check Also

lockdown in rajasthan

#LockDown 3 मई सुबह पांच बजे तक पूरे प्रदेश में जन अनुशासन पखवाड़ा मनाया जाएगा।

आज पूरे दिन की चर्चा के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लिया फैसला। इस फैसले …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *