fbpx
Breaking News
गुरुनानक जयंती प्रकाश पर्व के रूप में मनाई,सोशल डिस्टेंसी का पालना की
गुरुनानक जयंती प्रकाश पर्व के रूप में मनाई,सोशल डिस्टेंसी का पालना की

गुरुनानक जयंती प्रकाश पर्व के रूप में मनाई,सोशल डिस्टेंसी का पालना की

गुरुनानक जयंती प्रकाश पर्व के रूप में मनाई,सोशल डिस्टेंसी का पालना की
 गंगापुर सिटी
रेलवे बजरिया स्थितगुरुद्वारे में सोमवार को गुरु नानक देव की जयंती प्रकाश पर्व के रूप में मनाई गई। इस दौरान इस बार कोरोना संक्रमण की वजह से गुरुपर्व पर रस्में तो अदा की। इस दौरान गुरुद्वारे के ग्रंथी तथा अन्य लोग सीमित संख्या में शामिल हुए। समाज के गुलशन कुमार ने बताया कि गुरुद्वारे में सोशल डिफेंस का पालन किया एवं सभी ने सैनिटाइजर का भी प्रयोग किया कोविड-19 नियमावली का पालन करते हुए गुरु नानक देव की जयंती मनाई। समाज के गुलशन नागी ने बताया कि कोरोना को देखते हुए गुरुद्वारे पर होने वाले कार्यक्रम निरस्त कर दिए गए। सामान्यत: इस दिन गुरुद्वारे में संगत आती थी और बड़े स्तर पर लंगर का आयोजन भी किया जाता था, लेकिन इस बार सीमित ही पैकेट बाटे गए। शेष अन्य श्रद्धालुओं ने अपने घरों पर रहकर ही वाहेगुरु से प्रार्थना की। गुरुनानक देव की शिक्षा को याद किया इस दिन गुरुनानक देव की शिक्षाओं और समाज के प्रति उनके योगदान को याद किया जाता है। गुरुनानक जी का जन्म 1469 में तलवंडी नामक स्थान पर हुआ था। यह स्थान अब पाकिस्तान में है, जिसे ननकाना साहिब के नाम से जाना जाता है। उन्होंने बताया कि इस दिन गुरुनानक देव की शिक्षाओं को याद किया जाता है। और उनके बताए मार्ग पर चलने के लिए सबको प्रेरित किया जाता है

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe

Check Also

अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे एसडीएम को किया स्थाई - बौंली

अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे एसडीएम को किया स्थाई – बौंली

अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे एसडीएम को किया स्थाई बौंली (प्रेमराज सैनी) राज्य में हुए आर …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com