fbpx
सोमवार , अक्टूबर 25 2021
Breaking News
Phone Panchayat

खंडार तहसील क्षेत्र के किसानों ने तहसील मुख्यालय पर मीटिंग का आयोजन किया

खंडार तहसील क्षेत्र के किसानों ने तहसील मुख्यालय पर मीटिंग का आयोजन किया

खंडार तहसील क्षेत्र के किसान कई अपनी समस्याओं को लेकर कई बार तहसील मुख्यालय से लेकर उपखंड मुख्यालय तक को अपील एवं ज्ञापन दे चुके है। भारतीय राष्ट्रीय किसान संघ के मीडिया प्रभारी एवं समाजसेवी ज्योतिषाचार्य पं० मनोज कुमार शर्मा ने बताया कि कई बार अपील एवं विज्ञापन के पश्चात भी किसानों की समस्या का कोई निस्तारण नहीं हुआ है। हताश होकर किसानों ने आज फिर एक मीटिंग का आयोजन किया है। जिसमें चर्चा की गई
1, कृषि बीमा योजना के तहत किसानों के खातों में पैसा भुगतान नहीं हो रहा है।
2, अतिवृष्टि एवं ओलावृष्टि के फसल खराबे का भुगतान किसानों को आज तक भी नहीं मिला है।
3, किसानों को भूतपूर्व मुख्यमंत्री वसुंधराजे द्वारा विद्युत बिल भुगतान में 833 रुपए की सब्सिडी लागू की गई थी लेकिन राजस्थान में नई सरकार के बैठने के पश्चात किसानों की ₹833 की सब्सिडी बंद कर दी गई। इसीलिए किसानों ने गहलोत सरकार से विद्युत बिल भुगतान में 833 रुपए की सब्सिडी चालू करने की मांग की है।
4, खंडार तहसील क्षेत्र में वन्यजीवों द्वारा कृषि फार्म पर 40 परसेंटेज फसल खराब हो जाती है। क्योंकि वन्यजीव हिरण रोजडे नीलगाय आदि वन्य जीवो का कृषि फार्म पर उत्पात रहता है। इसीलिए हम किसानों को वन्य जीवो द्वारा हुई फसल खराब का फसल खराबा भी सरकार से मिलना चाहिए।
5, हम खंडार तहसील क्षेत्र के किसानों को फसल सिंचाई के लिए 7 घंटे की विद्युत सप्लाई का प्रावधान है। लेकिन हम किसानों को 7 घंटे विद्युत नहीं मिल रही है। हम किसानों को 4घंटे ही विद्युत मिल रही है। 4 घंटे की विद्युत सप्लाई में भी बार-बार विद्युत कटौती होने से हमारी फसल की सिंचाई नहीं हो पाती है। जिससे हमारी फसल कई बार सूखने की स्थिति में आ जाती है पर्याप्त मात्रा में विद्युत नहीं मिलने से पर्याप्त मात्रा में सिंचाई नहीं होने से कई बार हमारी फसल खराब हो जाती है। इसीलिए खंडार तहसील क्षेत्र के किसानों ने बिना विद्युत कटौती के 7 घंटे की विद्युत सप्लाई की सरकार से मांग की है।
6, सरकार से किसानों ने समर्थन मूल्य से नीचे हमारी फसल ने खरीदी जाए इसकी भी मांग की है।

7, क्षेत्र के किसानों का कहना है कि भूमि में जलस्तर बहुत नीचे चला गया है। जिससे फसल सिंचाई में बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसीलिए सिंचाई परियोजना के तहत बनास नदी पर पीपल्दा घाटे डैम का निर्माण करवाया जाए। जिससे जलस्तर में बढ़ोतरी हो एवं आसपास के किसानों को फसल सिंचाई का भरपूर लाभ मिल सके। इसीलिए किसानों ने राजस्थान सरकार से बनास नदी पर डैम निर्माण के लिए गुहार लगाई है।

इन सभी मांगों को लेकर किसानों ने कई बार उपखंड मुख्यालय प्रशासन को लिखित में मोहित में अपीलों में ज्ञापनो के माध्यम से अवगत करवाया है। लेकिन उसके पश्चात भी आज तक भी किसानों की इन समस्याओं का कोई स्थाई निस्तारण नहीं हुआ है। इसीलिए खंडार तहसील क्षेत्र के किसानों ने हताश होकर राजस्थान सरकार से पांच मांगों को लेकर गुहार लगाई है। किसान संघ के अध्यक्ष मुरली चौधरी, प्रदेश संयोजक लक्ष्मी नारायण चौधरी, संभाल संयोजक प्रेमसाय चौधरी, जिला कोषाध्यक्ष किशोर चौधरी, महामंत्री रमेश चंद जाट, तहसील मंत्री जगदीश चौधरी,, एवं खंडार तहसील क्षेत्र के किसान मौजूद रहे हैं,

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe
Phone Panchayat

Check Also

गंगापुर शहर अपना है नगर परिषद के सभी वार्डो में रहने वाले नागरिक भी अपने हैं।-सभापति

गंगापुर शहर अपना है नगर परिषद के सभी वार्डो में रहने वाले नागरिक भी अपने …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com