Tonk : कलेक्टर से मांगी इच्छा मृत्यु की अनुमति, चिरंजीवी योजना का पात्र होने के बावजूद नहीं हो रहा इलाज।

Tonk : कलेक्टर से मांगी इच्छा मृत्यु की अनुमति, चिरंजीवी योजना का पात्र होने के बावजूद नहीं हो रहा इलाज।

Tonk : पिता का दर्द-कलेक्टर से मांगी इच्छा मृत्यु की अनुमति। 
बच्चों को बीमारी से जूझता हुआ देखना किसी भी माता-पिता के लिए कांटो पर सोने जैसा है लेकिन टोंक जिले के देवली में रहने वाले रईस मोहम्मद अपनी 8 वर्षीय बच्ची के लाइलाज बीमारी और उस के इलाज में कंगाल होने की स्थिति से मानसिक रूप से पूरी तरह परेशान हो चुके हैं उस पर भी डॉक्टरों द्वारा उस बीमारी का जीवन भर इलाज चलने की बात कहना करुणा के चलते पहले से ही काम धंधे बंद होने और लगातार इलाज करने के चलते आर्थिक रुप से कमजोर हुए रईस मोहम्मद अब प्रशासन से लेकर जनप्रतिनिधियों से गुहार लगा रहे हैं कि उनकी इस स्थिति में मदद की जाए लेकिन अब तक कोई मदद नहीं मिलने से वह निराश है और आज उन्होंने कलेक्टर से मिलकर अपनी पीड़ा बताते हुए सहायता प्रदान करने या फिर परिवार सहित इच्छा मृत्यु करने की अनुमति देने की मांग की है।

जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय पर कलेक्टर से मिलकर लौटे यह पिता पुत्री टोंक जिले के देवली स्थित बंगाली कॉलोनी के रहने वाले हैं जो आज कलेक्टर से इसलिए मिलने आए हैं क्योंकि लगातार गिरती आर्थिक हालत और बच्ची की लाइलाज बीमारी के इलाज का खर्चा वाहन करने में सक्षम हो रहे हैं कलेक्टर को सौंपा गए ज्ञापन में रईस मोहम्मद ने बताया कि उसकी बेटी 8 वर्षीय सोहा अली खान जन्म से ही एक लाइलाज बीमारी से पीड़ित है जिस के इलाज मैं उसके कारोबार और घर तक गिरवी हो चुका है इसलिए अब वह उसका उपचार करवा पाने में असक्षम हो गया है, दरअसल रईस मोहम्मद के दो बेटियां हैं। उसमे से छोटी बेटी सोहा अली खान को जन्म से ही लाइलाज बीमारी है।

यह भी पढ़ें :   Sawai Madhopur : पशु चिकित्सा उप केन्द्र मामडोली के भवन निर्माण के लिये भूमि आवंटित - बौंली 

जिसका लगातार ईलाज चल रहा है लेकिन, जयपुर के जेके लोन अस्पताल मद इलाज के बाद में दुर्लभजी चिकित्सालय में ईलाज चल रहा है। फिलहाल उसकी रीड की हड्डी का ऑपरेशन, सिर का ऑपरेशन, दोनो पैरों का ईलाज करवाने के बावजूद उसकी बेटी ठीक नही हुई और 15 दिसम्बर 2021 और 16 जनवरी 2022 को पैशाब की नली के दो ऑपरेशन करवाने में लाखो रूपये लगने पर लॉन लेने के साथ ही बाजार से ब्याज से लेकर साढ़े 8 सालों से ईलाज करवाने के कारण पूरी तरह से कर्जे में डूब चुका है, आर्थिक और मानसिक रूप से पूरी तरह से परेशान हो चुके रईस मोहम्मद स्थानीय प्रशासन से लेकर देवली उनियारा विधायक हरीश मीणा और राज्य के कई मंत्रियों को अपनी समस्या बताकर आर्थिक स्थिति को देखते हुए सहायता या फिर बच्ची का सरकारी तौर पर उपचार करवाने की मांग कर चुके लेकिन हर जगह आश्वासन मिलने से परेशान होने के बाद आज रईस टोंक कलेक्टर पहुंचा जहां उन्होंने कलेक्टर चेन्नई गोपाल से मिलकर अपनी समस्या बताएं जहां उन्हें सीएमएचओ से मिलने को कहां गया रईस मोहम्मद का कहना है कि वह बच्ची का इलाज करा कर पूरी तरह से कंगाल हो चुका है और उसका घर भी कुर्की होने वाली है क्योंकि बैंक वाले लगातार तकाजा कर धमका रहे हैं,इसलिए उन्होंने कलेक्टर से अपनी बेटी सोहा अली खान के ईलाज हेतु उचित सहायता राशि दिलवाने या फिर उनके परिवार को इच्छा मृत्यु करने की अनुमति मांगी है।

यह भी पढ़ें :   Sawai Madhopur : विभिन्न सार्वजनिक प्रयोजनों के लिये भूमि आवंटित/आरक्षित

दस लाख लोगों में एक को ही होती है यह बीमारी
बच्ची की बीमारी को लेकर उसका उपचार करने वाले डॉक्टरों ने उसके पिता को बताया यह बीमारी दस लाख लोगों में एक को ही होती है, रईस खाद्य सुरक्षा और चिरंजीवी योजना का पात्र होने के बावजूद इसका उपचार नही हो पा रहा क्योंकि बीमारी गंभीर होने के साथ साथ ही उसका उपचार सरकारी योजना में नही आता है, रईस ने बताया जी उसकी बेटी के शौच और पैशाब बिल्कुल भी कन्ट्रोल में नहीं है। जिससे डायपर व दवाईयां बाहर से लानी पड़ती है। रोजाना डायपर व दवाईयो का एक हजार रूपये का खर्चा है होता है यानि बेटी के इलाज में हर माह 30 हजार का खर्चा हो जाता है, यही कारण है पिछले साढ़े 8 सालो में बेटी के लिए के ईलाज में मेरी मकान, जेवरात, सभी बिक चुके है, इसके साथ ही कोरोना महामारी के चलते पूरा काम-धंधा खत्म हो गया है।

अब मजदूरी करके ईलाज करवाने की वजह से उसके उसके पास अब आय का कोई स्त्रोत नहीं रहा है तथा ईलाज करवाना असंभव हो गया है। इसलिए वह शासन प्रशासन से यह सरकारी मदद की आस लगाए हैं , उसने बताया कि अगर प्रशासन और सरकार उसे इस मामले में आर्थिक सहायता नहीं देती है तो उसे परिवार सहित इच्छा मृत्यु करने की अनुमति दे दे ताकि वह इस कष्टदायीं जीवन से मुक्ति पा सके।

यह भी देखें :   Live: जामा मस्जिद गंगापुर सिटी में जाम की स्थिति

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें