fbpx
रविवार , अक्टूबर 17 2021
Breaking News
Phone Panchayat

UN का खुलासा- अलकायदा के आतंकी समूहों को तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने किया एकजुट

UN का खुलासा- अलकायदा के आतंकी समूहों को तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने किया एकजुट

संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले साल सिर्फ 3 महीने में हुए 100 से ज्यादा आतंकी हमलों के लिए जिम्मेदार आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने कई छोटे आतंकवादी समूहों को अफगानिस्तान में फिर से एकजुट करने का काम किया है. इससे अफगानिस्तान और क्षेत्र में खतरा बढ़ने का अंदेशा है. इन छोटे-छोटे आतंकवादी समूहों को अलकायदा संचालित कर रहा था.

एनालिटिकल सपोर्ट ऐंड सैंक्शंस टीम की 27वीं रिपोर्ट में कहा गया है कि टीटीपी ने अफनानिस्तान में छोटे-छोटे आतंकी समूहों को कथित रुप से फिर से एक करने का काम किया है, जिसका संचालन अलकायदा कर रहा था. रिपोर्ट में कहा गया है कि इससे अफगानिस्तान, पाकिस्तान और क्षेत्र में खतरा बढ़ने का अंदेशा है. उसमें कहा गया है कि जुलाई और अगस्त में पांच समूहों ने टीटीपी के प्रति निष्ठा का प्रण लिया था, जिसमें शेहरयार महसूद समूह, जमात-उल-अहरार, हिज्ब-उल-अहरार, अमजद फरूकी समूह और उस्मान सैफुल्लाह समूह जिसे कि पहले लश्कर-ए-झांगवी के नाम से जाना जाता था, शामिल है.

रिपोर्ट के मुताबिक, इससे टीटीपी की ताकत बढ़ी है और नतीजतन क्षेत्र में हमले बढ़े हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि एक आकलन के मुताबिक, टीटीपी में लड़ाकों की संख्या 2,500 से 6,000 है. रिपोर्ट में कहा गया है कि टीटीपी जुलाई और अक्टूबर 2020 के बीच सीमा पार के देशों में 100 से अधिक हमलों के लिए जिम्मेदार है.

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe
Phone Panchayat

Check Also

आखिर यह कौन सी विचारधारा है जो मुसलमानों को मस्जिद में चैन से नमाज भी नहीं पढऩे देती। अफगानिस्तान में लगातार दूसरे शुक्रवार को शिया समुदाय की मस्जिदों में बम विस्फोट।

आखिर यह कौन सी विचारधारा है जो मुसलमानों को मस्जिद में चैन से नमाज भी नहीं पढऩे देती। अफगानिस्तान में लगातार दूसरे शुक्रवार को शिया समुदाय की मस्जिदों में बम विस्फोट।

आखिर यह कौन सी विचारधारा है जो मुसलमानों को मस्जिद में चैन से नमाज भी …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com