Dausa : मेहंदीपुर बालाजी में उमड़ा भक्तों का सैलाब

Dausa : मेहंदीपुर बालाजी में उमड़ा भक्तों का सैलाब

Dausa : मेहंदीपुर बालाजी में उमड़ा भक्तों का सैलाब

धूमधाम से मनाया हनुमान जी का जन्मदिन
दौसा 16 अप्रैल। कोरोना काल के दो साल बाद आस्थाधाम मेहंदीपुर बालाजी मे शनिवार को हनुमान जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। बालाजी महाराज के जन्मोत्सव में शामिल होने के लिए दिल्ली, हरियाणा, पंजाब व यूपी सहित देश के कोने-कोने से बड़ी तादाद में श्रद्धालु आस्थाधाम पहुंचे। जहां मंदिर के सामने 300 मीटर का गलियारा श्रद्धालुओं की भीड़ से खचाखच भर गया।
सुबह सवा 8 बजे महंत नरेशपुरी महाराज ने महाआरती कर बालाजी को छप्पनभोग लगाया। सबसे पहले अलसुबह बालाजी का पंचामृत से अभिषेक कर सोने का चोला चढ़ाया गया, तथा फूल बंगला झांकी सजाकर छप्पनभोग लगाया गया, इसके साथ ही बालाजी को चूरमा, लड्डू, बर्फी, छप्पनभोग, मिश्री मेवा का विशेष भोग लगाया गया। जन्मोत्सव आरती के दौरान श्रद्धालुओं ने जय श्रीराम व बालाजी महाराज के जयकारे लगाए, इससे मंदिर परिसर गुंजायमान हो गया बालाजी महाराज के जन्मोत्सव को लेकर मंदिर की भव्य सजावट की गई। दर्जनों बंगाली कारीगरों ने दिन-रात मेहनत कर मंदिर बाहरी आवरण को अतिभव्य रूप दिया। इसके साथ ही मंदिर को रंग बिरंगी एलईडी लाईट, पर्दे व फूल बंगला झांकी सहित मंदिर के बाहरी आवरण पर हनुमानजी की बाल लीलाओं को मूर्ति स्वरूप में दर्शाया गया। वहीं गर्भगृह में बालाजी महाराज की मनमोहक फूल बंगला झांकी सजाई गई।
मंदिर के दोनों ओर सड़क पर प्रवेश द्वार बनाकर 51 फिट का एलईडी गेट लगाया गया, तथा मंदिर के 200 मीटर के दायरे में आकर्षक लाइटिंग कराई गई। मंदिर परिसर के चप्पे-चप्पे पर आकर्षक सजावट ने श्रद्धालुओं को अपनी ओर आकर्षित किया। केसरीनंदन के जन्मोत्सव पर बालाजी मंदिर में गर्भगृह में शहनाई वादकों की ध्वनि गूंजती रही। कोरोना काल के दो वर्ष बाद हुए, इस आयोजन को लेकर श्रद्धालुओं में बेहद उत्साह नजर आया। ग्रामीण क्षेत्रों के लोग भी मंदिर की सजावट देखने पहुंचे। और बड़ी ही धूमधाम से पर्व को श्रद्धालुओं ने मनाया। इसी के साथ हम बात करे पुलिस प्रशासन की सुरक्षा की तो व्यवस्था बनाए रखने के लिए
हनुमान जन्मोत्सव पर देशभर से बड़ी संख्या में श्रद्धालु मेहंदीपुर बालाजी पहुंचे, ऐसे में उनकी सुरक्षा व्यवस्था में दौसा व करौली पुलिस के 100 जवान तैनात रहे। मंदिर परिसर में सादा वर्दी तैनाती रहे तथा संदिग्ध लोगों पर भी पुलिस की पैनी नजर रही। मुख्य बाजार, दर्शनार्थी लाइन, उदयपुरा तिराहे सहित मंदिर परिसर में पुलिस के जवान तैनात रहे। हालांकि ट्रैफिक अव्यवस्था के चलते श्रद्धालुओं को परेशानी का सामना करना पड़ा।

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें