अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने सीमावर्ती जैसलमेर जिले के दूरस्थ अंचलों का किया दौरा

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने सीमावर्ती जैसलमेर जिले के दूरस्थ अंचलों का किया दौरा

अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने सीमावर्ती जैसलमेर जिले के दूरस्थ अंचलों का किया दौरा
जयपुर, 30 मई। अल्पसंख्यक मामलात मंत्री श्री शाले मोहम्मद ने रविवार को जैसलमेर जिले के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा कर सम सामयिक हालातों की जानकारी ली, ग्रामीणों से चर्चा कर पानी-बिजली, लोक स्वास्थ्य, खाद्य आपूर्ति सहित लोक जीवन से संबंधित तमाम जरूरी विषयों पर बातचीत की, जन समस्याएं जानी तथा इनके समयबद्ध निस्तारण का आश्वासन दिया।
अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने चिन्नू, भारेवाला, रोहिड़ो वाला आदि ग्राम पंचायत क्षेत्रों के साथ ही मोहम्मद नगर, 235 आरडी एवं समीपवर्ती ग्रामीण इलाकों का दौरा किया और इस दौरान जगह-जगह सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ग्रामीणों की छोटी-छोटी चौपालें लेकर गांवों और ग्रामीणों के वर्तमान हालातों को लेकर चर्चा की तथा क्षेत्र के हालातों की वस्तुस्थिति और ग्राम्य लोक जीवन से रूबरू हुए।
भरसक प्रयासों में जुटी है राज्य सरकार
अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने राज्य सरकार द्वारा कोविड महामारी पर नियंत्रण के लिए लगातार की जा रही भरसक कोशिशों के बारे में ग्रामीणों को बताया और कहा कि वे इस महामारी से किसी भी प्रकार से भयभीत न हों बल्कि इससे बचने का सबसे बढ़िया, सहज सर्वमान्य और सरल उपाय यही है कि हम सरकार द्वारा जारी गाईड लाईन और सभी प्रकार की पाबंदियों का पूरा-पूरा पालन करें।
कोरोना से खुद बचें, औरों को भी बचाए रखें
उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि अनावश्यक घर से बाहर न निकलें, जरूरी हो तब ही बाहर निकलें पर मास्क का अनिवार्य उपयोग करें, परस्पर दूरी बनाए रखें, साबुन से बार-बार हाथ धोएं, सेनेटाईजर का उपयोग करें और तमाम प्रकार की ऎहतियात बरतें। ऎसा होने पर ही हम कोरोना से मुक्त रह सकते हैं।
अपने गांव और ढांणियों से रखें कोरोना मुक्त
उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि कोरोना के मामले में किसी भी प्रकार की ढिलाई या लापरवाही न बरतें और पूरी-पूरी सावधानी बनाए रखें। स्वयं भी इससे बचाव के लिए सतर्क रहें तथा दूसरे लोगों को भी समझाएं, जागरुक करें तथा अपने गांव-ढांणियों को सुरक्षित बचाए रखें।
हर क्षेत्र में चिकित्सा के श्रेष्ठ प्रबन्ध सुनिश्चित
अल्पसंख्यक मामलात मंत्री ने बताया कि सरकार ने सभी क्षेत्रों में ईलाज और परामर्श के ठोस एवं सार्थक प्रबन्ध किए हैं, नजदीकी अस्पतालों में बैड्स एवं ऑॅक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता है और लोक स्वास्थ्य रक्षा के लिए आवश्यक सभी प्रकार के संसाधनों, दवाइयों एवं जांच मशीनों सहित पूरा प्रबन्ध किया हुआ है।
बीमारी की स्थिति में लापरवाही न बरतें
उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि किसी भी प्रकार की बीमारी के संकेत होने पर नजदीकी अस्पताल में जाकर डॉक्टर को दिखाएं और पर्याप्त ईलाज लें, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतें। इसके साथ ही चिकित्सकीय सर्वे के लिए आने वाली टीमों को परिवार के स्वास्थ्य की सही-सही जानकारी दें ताकि समय पर दवाइयों और ईलाज के लिए परामर्श प्राप्त हो सके।
पेयजल प्रबन्धन के प्रति गंभीर है शासन-प्रशासन
श्री शाले मोहम्मद ने नहर बन्दी के मद्देनज़र ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की पर्याप्त व्यवस्था पर जोर देते हुए ग्रामीणों को बताया कि इस बारे में शासन-प्रशासन के स्तर पर सभी संबंधित विभागों को निर्देशित किया हुआ है कि पेयजल प्रबन्धन के प्रति गंभीर रहें और जहां कहीं पानी की समस्या सामने आए, उसका तत्काल समाधान कर ग्रामीणों को राहत प्रदान करें। उन्होंने पशुओं के पीने के पानी के प्रबन्धों के प्रति गंभीर रहने के निर्देश जलदाय से संबंधित अधिकारियों को दिए।
हर समस्या का होगा समाधान
उन्होंने ग्रामीणों द्वारा बताई गई समस्याओं के प्राथमिकता से समाधान करने का आश्वासन दिया और कहा कि अब समस्या समाधान के लिए सरकार ने बेहतर कार्यप्रणाली विकसित की हुई है जिसमें निर्धारित समयावधि में समस्या का निस्तारण और शिकायतों का समाधान किया जाता है। इसके लिए ऑनलाईन पोर्टल की भी व्यवस्था है। ग्रामीणों को चाहिए कि किसी भी प्रकार की समस्या सामने आने पर सरकारी तंत्र का उपयोग करें।
उन्होंने ग्रामीणों से यह भी कहा कि मौसम विभाग की भविष्यवाणियाें के अनुरूप चलें और इसके साथ ही गर्मी के प्रकोप से बचाव के प्रति भी सतर्क रहें।
——

यह भी देखें :  
यह भी पढ़ें :   प्रभारी मंत्री सुखराम विश्नोई ने किया ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा, महानरेगा कार्य तथा स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण
Corruption : महोल्ले में सड़क खोदी, पाइप डाले और मरम्मत करना भूले | Barnala News | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें