banner

केन्द्रीय कार्मिक एवं लोक शिकायत राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह कल 14.9.2022 को सिविल सेवा अधिकारी संस्थान (सीएसओआई), चाणक्यपुरी, नई दिल्ली में विशेष अभियान 2.0 पोर्टल का शुभारंभ करेंगे

केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री एवं पृथ्वी विज्ञान राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार),  प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्यमंत्री, डॉ. जितेंद्र सिंह कल दिनांक 14 सितम्बर 2022 को सिविल सेवा अधिकारी संस्थान (सीएसओआई) , चाणक्यपुरी, नई दिल्ली में वेबसाइट www.pgportal.govlin/scdpm22 को एक सरकारी समारोह में लांच करेंगे, जिसमें प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत विभाग (डीएआरपीजी) के सचिव की उपस्थिति में भारत सरकार के 85 मंत्रालयों के संयुक्त सचिव स्तर के अधिकारी शामिल होंगे।

इसी आयोजन के दौरान प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत विभाग (डीएआरपीजी) के तीन  प्रतिवेदनों (रिपोर्टों)  – विशेष अभियान जुलाई प्रगति रिपोर्ट, केंद्रीयकृत सार्वजनिक शिकायत निवारण और निगरानी प्रणाली (सीपीजीआरएएमएस) 7. 0 पुस्तिका (ब्रोशर) तथा अगस्त, 2022 की केंद्रीयकृत सार्वजनिक शिकायत निवारण और निगरानी प्रणाली (सीपीजीआरएएमएस) मासिक प्रगति रिपोर्ट भी जारी की जाएगी।

भारत सरकार ने 2 अक्टूबर से 31 अक्टूबर, 2022 तक स्वच्छता और सरकार में लंबित मामलों को कम करने के लिए विशेष अभियान 2.0 की घोषणा की है। मंत्रिमंडल सचिव ने 23 अगस्त, 2022 को भारत सरकार के सभी सचिवों को संबोधित किया था और इसके लिए डीएआरपीजी का एक दिशा-निर्देश नोट 25 अगस्त, 2022 को जारी किया गया था। विशेष अभियान 2.0 सभी मंत्रालयों / विभागों के क्षेत्रीय (फील्ड)/बाहरी कार्यालयों और उनके संबद्ध/ अधीनस्थ कार्यालयों पर अपना ध्यान केन्द्रित करेगा। प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग (डीएआरपीजी) इस विशेष अभियान 2.0 के कार्यान्वयन की देखरेख करेगा।

यह भी पढ़ें :   संस्कृति मंत्रालय ने जनजातीय संस्कृति, कला और साहित्य में अनुसंधान और अध्ययन के लिए अपने स्वायत्त निकायों के जरिये विभिन्न पहल की

विशेष अभियान 2.0 का प्रारंभिक भाग डॉ. जितेंद्र सिंह द्वारा विशेष अभियान इस 2.0 पोर्टल को जारी किए जाने के साथ शुरू होगा जो 30 सितंबर, 2022 तक जारी रहेगाI इस दौरान सभी  मंत्रालय और विभाग चयनित श्रेणियों में लम्बित मामलों (पेंडेंसी) की पहचान करेंगे और अभियान के स्थलों (साइटों) को अंतिम रूप देने के साथ ही अपने-अपने कार्यालयों में अभियान के संचालन के लिए आवश्यक प्रक्रियात्मक आवश्यकताओं को पूरा करेंगे। प्रत्येक मंत्रालय / विभाग से यह अपेक्षा की जाती है कि वे प्रारंभिक चरण के दौरान इस पोर्टल का उपयोग अपने स्वच्छता अभियान स्थलों, फाइलों को हटाने और विभिन्न लंबित आंकड़ों जैसे सांसदों द्वारा उल्लिखित संदर्भ, राज्य सरकारों द्वारा उल्लिखित संदर्भ आदि के लक्ष्यों को दर्ज करने के लिए करेंगे। भारत सरकार के मंत्रालयों/विभागों द्वारा स्वच्छता अभियान चलाने के लिए अब तक 67,000 से अधिक स्थलों (साइटों) की  पहचान की जा चुकी है।

यह भी पढ़ें :   जापान-भारत समुद्री द्विपक्षीय अभ्यास- जिमेक्स 2022

विशेष अभियान 2022 विभिन्न संदर्भों के समय पर निपटान और एक स्वच्छ कार्य स्थान के महत्व पर बल देता है। महीने भर तक चलने वाले इस अभियान 2022 के दौरान मिशन मोड़ में 1.5 लाख डाकघरों, विदेश स्थित दूतावासों/ तैनाती स्थलों (पोस्टों), रेलवे स्टेशनों तथा  अन्य सार्वजनिक कार्यालयों को शामिल किए जाने की सम्भावना है। विशेष अभियान के पोर्टल के संबंध में नोडल अधिकारियों के प्रशिक्षण का आयोजन प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग (डीएआरपीजी) द्वारा पहले ही किया जा चुका है। इस कार्यक्रम का क्रमवार (मिनट टू मिनट) विवरण संलग्न है।

*****

एमजी / एएम / एसटी/वाईबी

यह भी देखें :   Lalsoth : किसानों को फसल का उचित मूल्य दिलवाने को लेकर दिया ज्ञापन | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें