banner

वैश्विक आयुष निवेश और नवाचार शिखर सम्मेलन 2022 में छात्र आयुर्वेद स्टार्टअप को 2.50 करोड़ रुपये का वित्तपोषण मिला

आयुष मंत्रालय ने पारंपरिक दवाओं के क्षेत्र में स्टार्टअप संस्कृति को प्रोत्साहित करने के लिए कई पहल की हैं। तीन दिवसीय वैश्विक आयुष निवेश और नवाचार शिखर सम्मेलन (जीएआईआईएस 2022) में स्टार्टअप्स और छात्रों की उत्साहजनक भागीदारी देखी गई, जिन्होंने अपने उत्पादों और विभिन्न पहलों का प्रदर्शन किया। जीएआईआईएस 2022 में आयोजित प्रदर्शनी में स्टार्टअप के साथ कई स्थापित कंपनियों ने अपने स्टॉल लगाए। नीलकंठ मार्डिया द्वारा स्थापित ऐसे ही एक छात्र आयुर्वेदिक स्टार्टअप, ग्रीन फॉरेस्ट वेलनेस को एक निजी कंपनी से 2.50 करोड़ रुपये के वित्तपोषण का प्रस्ताव मिला है।

गुजरात के जामनगर के रहने वाले नीलकंठ मार्डिया, इंस्टीट्यूट ऑफ टीचिंग एंड रिसर्च इन आयुर्वेद (आईटीआरए), गुजरात के अंतिम वर्ष के छात्र हैं। स्टार्टअप स्थापित करने के उनके सपने को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के स्टार्टअप इंडिया कार्यक्रम के माध्यम से पंख लग गए। अक्टूबर 2021 में, केवल 5 लाख रुपये के साथ, उन्होंने आयुर्वेद आधारित कॉस्मेटिक कंपनी ग्रीन फॉरेस्ट वेलनेस का शुभारंभ किया था लेकिन धन की कमी के कारण, वह अपनी पहुंच का विस्तार करने और बिक्री बढ़ाने में सक्षम नहीं थे। वह इस निधियन का उपयोग उत्पादों के विस्तार और विपणन में सुधार के लिए करेंगे।

यह भी पढ़ें :   04 फरवरी कर्रेंट अफेयर्स के सवाल और जवाब

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात के गांधीनगर में वैश्विक आयुष निवेश और नवाचार शिखर सम्मेलन 2022 का उद्घाटन करते हुए उल्लेख किया था कि अन्य क्षेत्रों की तरह, उन्हें आशा है कि आने वाले वर्षों में वह आयुष क्षेत्र से भी प्रतिभाऐं सामने आऐगी। नीलकंठ मार्डिया की सफलताएं आयुष क्षेत्र से और अधिक स्टार्टअप्स को उभरने के लिए प्रोत्साहन प्रदान करेगी।

आईटीआरए के निदेशक डॉ. अनूप ठाकर ने कहा कि  नीलकंठ मार्डिया शुरू से ही जल्द सीखने वाले और मेहनती छात्र रहे हैं। उन्हें आयुर्वेद के सिद्धांतों पर आधारित नए सूत्र खोजने में रूचि रही है। वह अपने उद्यमी सपने को लेकर बहुत उत्साहित रहे हैं। डॉ. अनूप ठाकर ने प्रसन्नता जताई कि एक निजी कंपनी ने उनके स्टार्टअप में 2.50 करोड़ रुपये निवेश करने की पेशकश की है और हम उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हैं।

यह भी पढ़ें :   केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय समिति ने पांच राज्यों को

ग्रीन फॉरेस्ट वेलनेस कंपनी आयुर्वेदिक आधारित कॉस्मेटिक उत्पाद जैसे एंटी-एजिंग क्रीम, हाइड्रेटिंग मॉइस्चराइजिंग क्रीम, फेशियल क्लींजर, नर्सिग फेशियल क्लींजर, इंटेंस रिपेयर फेशियल क्लींजर, हेयर क्लींजर, हेयर कंडीशनर और फेशियल सीरम बनाती है।

ग्रीन फॉरेस्ट वेलनेस कंपनी के पास भविष्य के लिए कुछ बड़ी विस्तार योजना है। स्टार्टअप ग्रीन फॉरेस्ट का लक्ष्य वेलनेस क्लिनिक स्थापित करना है, जहां रोगी को प्राकृतिक तरीके से उनकी समस्या के अनुसार आयुर्वेदिक दवा दी जा सकेगी। इसकी  अन्य योजना में ग्रीन फॉरेस्ट वेलनेस पार्क की स्थापना भी शामिल है, जो नशामुक्ति की दिशा में कार्य करेगा। उन्होंने हरित वन पशु चिकित्सा समाधान स्थापित करने की भी योजना बनाई है, जहां आयुर्वेदिक विधियों और उपचार क्षेत्र के माध्यम से पशुओं को स्वस्थ रखा जा सकेगा।

***

एमजी/एएम/एसएस
 

यह भी देखें :   Gangapur City : दुकानदार का मोबाईल ले भागा चोर | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें