fbpx
मंगलवार , सितम्बर 21 2021
Breaking News
Phone Panchayat
लक्जरी कार में साढ़े 4 करोड़ की नकदी मिली:

लक्जरी कार में साढ़े 4 करोड़ की नकदी मिली

लक्जरी कार में साढ़े 4 करोड़ की नकदी मिली: नोटों को गिनने में लगे 3 घंटे, दिल्ली से 782 किमी सफर पूरा कर रतनपुर बॉर्डर पहुंचे आरोपी; अहमदाबाद से 150 किलोमीटर पहले डूंगरपुर पुलिस ने दबोचा

डूंगरपुर जिला पुलिस ने शनिवार को रतनपुर बॉर्डर पर नाकेबंदी के दौरान मोडीफाइड लक्जरी कार के भीतर से साढ़े चार करोड़ की नकदी बरामद की। शराब तस्करी के लिए तैयार मोडिफाइड कार में यह नकदी सीट के नीचे दो बॉक्स में छिपाई हुई थी।

दिल्ली से रवाना हुई यह कार तीन राज्यों की 782 किलोमीटर दूरी तय करते यहां पहुंची थी। अंतिम मंजिल अहमदाबाद से 150 किमी पहले पुलिस ने कार्रवाई को अंजाम दिया। मामले में पुलिस ने गुजरात के पाटन जिला निवासी रणजीत सिंह पुत्र रुपचंद राजपूत तथा उंझा निवासी नितिन पुत्र छगनलाल पटेल काे गिरफ्तार किया। इनसे पूछताछ जारी है।

दूसरी ओर बरामद नकदी की सूचना जिला पुलिस अधीक्षक सुधीर जोशी की ओर से इनकम टैक्स विभाग को दी गई। इस पर पहुंचे विभागीय कार्मिकों काे मशीन से नकदी गिनने में करीब तीन घंटे अधिक समय लगा। लॉकडाउन अवधि में बिछीवाड़ा पुलिस के इस प्रयास को प्रदेश में सबसे बड़ी कार्रवाई माना जा रहा है। बिछीवाड़ा थाना प्रभारी रिजवान खान के अनुसार लॉकडाउन को लेकर वे नाकाबंदी पर थे। तभी उदयपुर की ओर से एक कार आती हुई दिखाई दी। कार को देखकर उन्हें कुछ अंदेशा हुआ। रतनपुर चाैकी प्रभारी गाेविंदलाल लबाना एवं जाप्ते ने कार की तलाशी ली।

चालक ने भी वाहन को खाली होना बताया, लेकिन अक्सर ऐसे वाहनों में शराब की तस्करी से परिचित पुलिस ने यहां गहनता से कार की तलाशी ली। तभी सीट के नीचे लोहे के दो बॉक्स पर उनकी नजर गई। इस पर ताले जड़े हुए थे, जिसकी चाबी पास में ही रखी थी।

पुलिसस ने बॉक्स खोले तो भीतर से 2 हजार और 5 सौ के नोटों की गड्डियां निकलनी शुरू हुई। इतनी बड़ी राशि देखकर पुलिस के भी हाथ-पैर फूल गए। सीआई ने बिना देर लगाए इसकी सूचना जिला पुलिस अधीक्षक को दी। कार्रवाई दल में कांस्टेबल जितेंद्र अहारी, श्रीनिवास व विपेंद्र भी शामिल थे।

कार्रवाई में बरामद नकदी।

2 मशीनों ने तीन घंटे गिने नोट
तलाशी के दौरान पुलिस को वाहन में ढाई करोड़ रुपए होने तक अंदेशा हुआ। बाद में नोटों की गिनती करने के लिए दो मशीन मंगवाई गई। इन मशीनों को नोट गिनने में तीन घंटे से ज्यादा का समय लगा। मशीन के हिसाब से यह नकदी 4 करोड़ 49 हजार 99 हजार 5 सौ रुपए की मिली। आला अधिकारियों के निर्देश पर थाना पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया। वहीं आरोपियों से इस बारे में गंभीरता से पूछताछ की गई, लेकिन उनकी ओर से अब तक भी संतोषप्रद जवाब नहीं दिया गया।

पुलिस कार्रवाई में गिरफ्तार किए गए आरोपी।

दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान
नकदी लेकर दिल्ली से रवाना हुई यह कार लॉकडाउन के बीच दिल्ली की सीमा पार हुई। इसके बाद हरियाणा होते हुए राजस्थान सीमा के अंतिम छोर तक आ गई। चौथे राज्य गुजरात में प्रवेश होने के ठीक पहले राजस्थान पुलिस ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया।

नोटों की इस मौजूदगी को लेकर आरोपियों के हवाला कारोबार से जुड़े होने का अंदेशा लगाया जा रहा है। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह 19 मई को अहमदाबाद से दिल्ली को निकले थे। दिल्ली में कुछ समय के लिए उनकी कार कोई ओर ले गया था। बाद में वाहन सौंपते हुए यह कार अहमदाबाद में किसी कमलेश नाम के व्यक्ति को देना बताया था।

रतनपुर बॉर्डर पर पुलिस की मौजूदगी में मशीनों से यूं गिनी गई नकदी।

हवाला कारोबार की आशंका
मामले में जिला पुलिस अधीक्षक सुधीर जोशी ने बताया कि अब तक के अनुसंधान के मुताबिक मामला हवाला कारोबार से जुड़ा लग रहा है। इसकी सूचना इनकम टैक्स विभाग को दी गई है। नकदी के मामले में प्रकरण दर्ज किया है। आरोपियों ने पूछताछ में दिल्ली से अहमदाबाद जाना कबूल किया है।

हमें Support करें।

हमें इस पोर्टल को चलाये रखने और आपकी आवाज को प्रशासन तक पहुंचने के लिए आपकी सहायता की जरुरत होती है। इस न्यूज़ पोर्टल को लगातार चलाये रखने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके हमें सब्सक्राइब कर हमें योगदान करें ताकि हम आपके लिए आवाज उठा सकें।

Subscribe
Phone Panchayat

Check Also

रीट

अजमेर में रीट परीक्षार्थियों को भोजन के पैकेट नि:शुल्क मिलेंगे।

अजमेर में रीट परीक्षार्थियों को भोजन के पैकेट नि:शुल्क मिलेंगे। पार्षद ज्ञान सारस्वत, रमेश सोनी, …

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com