WhatsApp Image    at

क्षेत्र की समस्याओं के निराकरण के लिए भामाशाहों को आगे आना चाहिए  – तकनीकी शिक्षा, राज्य मंत्री

क्षेत्र की समस्याओं के निराकरण के लिए भामाशाहों को आगे आना चाहिए
– तकनीकी शिक्षा, राज्य मंत्री
जयपुर, 30 जून। तकनीकी शिक्षा, राज्य मंत्री एवं सीकर जिले के प्रभारी डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि  क्षेत्र की समस्याओं के निराकरण के लिए भामाशाहों को आगे आना चाहिए।  उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जन समस्याओं के प्रति संवेदनशील हैं। सभी अधिकारी आमजन की समस्याओं को सुनकर उनका तत्काल निस्तारण कराना सुनिश्चित करें तथा राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ पात्र परिवारों तक पहुंचायें।

डॉ. गर्ग बुधवार को सीकर जिले के खण्डेला पंचायत समिति परिसर में ब्लॉक स्तरीय जन सुनवाई में बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कोविड का बहुत शानदार प्रबंधन किया, जिसके लिए  स्वयं प्रधानमंत्री ने भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि  मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के अलावा राज्य सरकार ने  कोविड -19 महामारी के कारण प्रभावित परिवारों, अनाथ, विधवाओं के लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण कोरोना बाल कल्याण योजना शुरू की है। सभी अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि इन योजनाओं का लाभ  पात्र परिवारों तक पहुंचें। उन्होंने वन विभाग की घर-घर औषधीय पौधे बांटने की योजना के समुचित क्रियान्वयन के निर्देश दिये।
प्रभारी मंत्री ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के  मध्य नजर उससे बचाव एवं नियंत्रण के लिए अभी से ही पूरी तैयारी करके रखें ताकी हम ज्यादा से ज्यादा लोगों की सुरक्षा कर सके। उन्होंने कहा कि लोगों को समझाएं की वे मास्क को अपने जीवन का अंग बनायें, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरते।

डॉ. गर्ग ने जिला कलेक्टर को कोरोना काल के दौरान हुई मौतों का सर्वे करवाने व रिपोर्ट तैयार कर आश्रितों को राहत पैकेज उपलब्ध करवाने के निर्देश दिये, इसके साथ ही चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को कोरोना से हुई मौतों के मामलों में मृत्यु प्रमाण पत्रों में संशोधन कर मौत का कारण दर्ज करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि शीघ्र ही राज्य सरकार द्वारा स्थानीय निकायों व ग्राम पंचायतों में सरकारी भूमियों पर बसी कॉलोनियों के नियमन का अभियान चलाया जायेगा, इसके लिये राजस्व, स्थानीय निकाय व पंचायत राज विभाग के अधिकारियों को समय पूर्व तैयारी करने के निर्देश दिये।
प्रभारी मंत्री ने जिला कलेक्टर को जनसुनवाई के दौरान प्राप्त परिवेदनाओं को राजस्थान सम्पर्क  पोर्टल पर ऑनलाइन कर आगामी बैठक में समीक्षा रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के मंशा के अनुरूप अधिकारी राजस्व मामलों का त्वरित निस्तारण कर पीड़ित व्यक्ति को राहत प्रदान करें। अधिकारियों के दरवाजे आमजन की समस्यओं के निराकरण के लिए सदैव खुले रहने चाहिए। हमें नर की सेवा, नारायण की सेवा का संकल्प लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि  क्षेत्र की समस्याओं के निराकरण के लिए भामाशाहों को आगे आना चाहिए।  भामाशाओं द्वारा शिक्षा, मेडिकल कॉलेज निर्माण सहित सामाजिक सरोकारों के कार्यों में सदैव योगदान रहता है।
 उन्होंने कहा कि भामाशाह समाज का निर्माण करता है। व्यक्ति को  अपनी आय का कुछ प्रतिशत हिस्सा समाज सेवा के कार्य में भी योगदान देना चाहिए। राज्य सरकार द्वारा सड़क, शिक्षा, चिकित्सा, विद्युत सहित अनेक विकास कार्य करवाये जा रहे है।
डॉ. गर्ग ने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन  के लिए अपने घर, परिवार, परिचित लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें। घर से बाहर निकले तो  मास्क जरूर लगायें। उन्होंने जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को निर्देश दिये कि मनरेगा में जिन गांव, ढ़ाणियों को ग्रेवल सड़क से जोड़ना है, उनके प्रस्ताव बनाकर जन प्रतिनिधियों की बैठक आयोजित करवाकर  उनकी सहमति से कार्य स्वीकृत करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की समस्याओं एवं विकास कार्यों के संबंध में जन प्रतिनिधियों के फीड़ बैक पर विशेष ध्यान दें। उन्होंने कहा कि हर पंचायत स्तर पर  एक मॉडल खेल मैदान बने, इसके लिए मनरेगा में शमशान, चार दीवारी निर्माण, कुण्ड , तालाब निर्माण का कार्य कन्वर्जन्स के तहत  करवायें जा सकते हैं।
जन सुनवाई में प्रभारी मंत्री डॉ.गर्ग को  ग्राम सलेदी पुरा के गंगाराम ने पेयजल समस्या का निस्तारण करने, वार्ड नम्बर 16 खण्डेला में विद्युत समस्या समाधान करने, पटवारी की नियुक्ति, गांव पटवारी का बास में दो ट्यूबवैल स्वीकृत करने,  उप स्वास्थ्य केन्द्र लापुवां को पीएचसी में क्रमोन्नत करने, जुगलपुरा की पीएचसी को सीएचसी में क्रमोन्नत करने, कोटडी धायलान में सरपंच मीरा देवी द्वारा कराये गये सड़क निर्माण कार्य की जांच कराने सहित अन्य  प्राप्त शिकायतों के निस्तारण के संबंध में संबंधित अधिकारियों को निस्तारण करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जन सुनवाई में प्राप्त समस्याओं को सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज किया जाएगा तथा आवेदक को इसकी  सूचना भी दी जायेगी की उसकी शिकायत पर क्या कार्यवाई की गई है।

यह भी पढ़ें :   एक भी पात्र का नाम नहीं छूटे - मुख्य निर्वाचन अधिकारी-सीकर 
जन सुनवाई में खण्डेला विधायक महादेव सिंह ने प्रभारी मंत्री से खण्डेला क्षेत्र में  पेयजल समस्या के समाधान के लिए हैडपम्प, ट्यूबवैल स्वीकृत करवाने की मांग की जिस पर प्रभारी मंत्री ने शीघ्र समाधान का आश्वासन दिया।
जिला कलेक्टर श्री अविचल चतुर्वेदी ने जन सुनवाई में प्रभारी मंत्री को बताया कि जिले में कोविड प्रबंधन के लिए जिला प्रशासन एवं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा समुचित प्रबंधन किया गया। राज्य सरकार द्वारा भी जो भी संसाधन की मांग की गई वह पूरी की गई। कोविड में जिले के विभागीय अधिकारियों, जन प्रतिनिधियों ने आवश्यक सहयोग जिला प्रशासन को प्रदान किया। इसी प्रकार वैक्सीनेशन कार्य में भी खण्डेला ब्लॉक में 11 हजार के लक्ष्य से अधिक 15 हजार लोगों का एक ही दिन में टीकाकरण करवाया। उन्होंने बताया कि कोरोना सहायता योजना में लाभार्थी को चिन्हित कर तुरंत सहायता पहुंचाई जा रही है। जिले में 90 बच्चों को पालनहार योजना  से जोड दिया गया है।
प्रभारी मंत्री ने किया पौघा रोपण ः

यह भी पढ़ें :   शिक्षा एवम देवस्थान व पर्यटन विभाग मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने जिला मुख्यालय स्तिथ सांवली कोविड हॉस्पिटल का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का लिया जायजा.........

सीकर जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने  जन सुनवाई से पूर्व पंचायत समिति परिसर के प्रांगण में पौधारोपण कर आगामी वर्षा ऋतु में घर-घर औषधी योजना को सफल बनाने का आमजन से आव्हान किया।

यह भी देखें :   Payment Issue : अपनी मांग को ले कर बैठे धरने पर | Gangapur City News | G News Portal

अपना सहयोग अवश्य दें।

हमें आपके सहयोग की आवश्यकता है, अपना छोटा सा सहयोग देकर हमें आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करें।

क्लिक करें