Indian Railways: टीटीई ने फोन-पे पर वसूले यात्री से पैसे, रसीद भी नहीं दी
Indian Railways: टीटीई ने फोन-पे पर वसूले यात्री से पैसे, रसीद भी नहीं दी

Indian Railways: टीटीई ने फोन-पे पर वसूले यात्री से पैसे, रसीद भी नहीं दी

Indian Railways: टीटीई ने फोन-पे पर वसूले यात्री से पैसे, रसीद भी नहीं दी

Rail News: टीटीई अब फोन-पे के माध्यम से भी यात्रियों से पैसे पसूलने लगे हैं। कोटा मंडल में भी अब ऐसा ही एक मामला सामने आया है।
यात्री सौरभ ने अपनी शिकायत में बताया कि वह 31 जनवरी को वह भरतपुर से बयाना तक देहरादून-कोटा नंदा देवी ट्रेन में सफर कर रहा था। उसके पास साधारण श्रेणी का टिकट था। टीटीई ने जुर्माने के रुप में उससे दौ सौ रुपए मांगे। नगद नहीं लेते हुए टीटीई ने यह राशि कोच अंटेडेंट हरीश के मोबाइल पर फोन-पे करवा दी।
सौरभ ने बताया कि इसके बाद उसने टीटीई से रसीद मांगी। लेकिन रसिद नहीं देते हुए टीटीई ने उससे मारपीट की और ट्रेन से बाहर फेंकने की कौशिश की। अन्य यात्रियों ने जैसे-तैसे उसे बचाया।
Indian Railways: टीटीई ने फोन-पे पर वसूले यात्री से पैसे, रसीद भी नहीं दी
Indian Railways: टीटीई ने फोन-पे पर वसूले यात्री से पैसे, रसीद भी नहीं दी
सौरभ ने बताया कि इसके बाद उसने मामले की शिकायत कोटा मंडल रेल प्रशासन से कर दी। लेकिन 7 दिन बाद भी प्रशासन ने इस मामले में काई कार्यवाही नहीं की। उल्टा उसकी शिकायत को बंद कर दिया गया। सौरभ ने बताया कि यदि उसकी शिकायत पर कार्यवाही नहीं हुई तो वह कोर्ट की शरण लेगा।
टीटीई ने डलवाए हैं पैसे
वहीं मामले में कोच अंटेटेंड हरीश ने बताया कि टीटीई ने उसके मोबाइल पर दौ सौ रुपए डलवाए थे। बाद में टीटीई ने यह पैसे किसी अन्य मोबाइल पर ट्रांसफर करवा लिए।
गौरतलब है कि जिम्मेदारों के खिलाफ प्रशासन की कार्यवाही सामने नहीं आने का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी एक टीटीई द्वारा यात्री से मारपीट का वीडियों वायरल हुआ था। इस मामले में भी प्रशासन द्वारा टीटीई के खिलाफ कोई कार्यवाही की बात सामने आई। इसके चलते टीटीइयों के हौसले बुलंद हैं।
अधिकारी ने नहीं उठाया फोन
इस मामले में वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक रोहित मालवीय को फोन किया गया था। लेकिन रोहित ने हमेशा की तरह फोन उठाना जरुरी नहीं समझा।