Indian Railways: कोटा रेलवे स्टेशन से चार साल के बच्चे का अपहरण, मचा हडकंप, सीसीटीवी में दिखा अपहर्ता
Indian Railways: कोटा रेलवे स्टेशन से चार साल के बच्चे का अपहरण, मचा हडकंप, सीसीटीवी में दिखा अपहर्ता

Indian Railways: कोटा रेलवे स्टेशन से चार साल के बच्चे का अपहरण, मचा हडकंप, सीसीटीवी में दिखा अपहर्ता

Indian Railways: कोटा रेलवे स्टेशन से चार साल के बच्चे का अपहरण, मचा हडकंप, सीसीटीवी में दिखा अपहर्ता
Rail News: कोटा। कोटा रेलवे स्टेशन से एक चार साल के बच्चे के अपहरण का मामला सामने आया है। बच्चे के अपहरण की खबर से जीआरपी और आरपीएफ सहित शहर पुलिस में भी हडकंप मचा हुआ है। हालांकि जीआरपी द्वारा मामले को छुपाने की कौशिश की जा रही है।
सूत्रों ने बताया कि यह घटना रविवार देर रात की है। कोटा झालखेरा रोड निवासी निवासी ओम प्रकाश प्रजपति कहीं बाहर जाने के लिए अपने चार साल के बच्चे लैविश को लेकर कोटा स्टेशन पहुंचा था। यहां पर ओम प्रकाश प्लेटफार्म नंबर एक पर ट्रेन का इंतजार कर रहा था। यहां ओम प्रकाश की नजर चुकने पर कोई अज्ञात व्यक्ति लैविश को अपने साथ ले गया।
Indian Railways: कोटा रेलवे स्टेशन से चार साल के बच्चे का अपहरण, मचा हडकंप, सीसीटीवी में दिखा अपहर्ता
Indian Railways: कोटा रेलवे स्टेशन से चार साल के बच्चे का अपहरण, मचा हडकंप, सीसीटीवी में दिखा अपहर्ता
यह भी पढ़ें :   Indian Railway: अंतोदय और गुरु एक्सप्रेस रद्द
कुछ देर बाद देखने पर ओम प्रकाश को लैविश कहीं नजर आया। इसके बाद बदहवाश ओम प्रकाश ने सभी प्लेटफार्म और स्टेशन परिसर में लैविश को काफी तलाश किया। लेकिन लैविश का कुछ पता नहीं चला। इसके बाद जीआरपी थाने पहुंचकर ओम प्रकाश ने लैविश के लापता होने की सूचना दी। ओम प्रकाश ने पुलिस को बताया कि लिवैश ने लाल रंग की चड्डी-बनियान और पैरों में सैंडल पहन रखे हैं।
खंगाले सीसीटीवी फूटेज
चार साल के बच्चे की लापता होने की सूचना पर जीआरपी ने तुरंत तलाशी अभियान शुरु कर दिया। सबसे पहले प्लेटफार्म पर लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। इसमे पुलिस को एक व्यक्ति लिवैश को को ले जाता नजर आ गया। सीसीटीवी में पिता ने बच्चे को पहचान लिया। लेकिन इस घटना के 24 घंटे बाद भी जीआरपी लिवैश और अपहर्ता का पता नहीं लगा सकी है।
मामला छुपाने की कौशिश
मामले को लेकर जीआरपी थानाधिकारी संतोष शर्मा से जानकारी लेने की कौशिश की गई। लेकिन संतोष ने न घटना की जानकारी देना जरुरी समझा और न ही बच्चे और पिता के नाम का खुलासा किया। संतोष ने बताया जांच के लिए टीमें भेजी हुई। बाकि जानकारी बाद में दी जाएगी।