Gangapur City : 27 वर्षीय युवक का पत्थरों से पीट-पीटकर हत्या, शहर में फैली सनसनी

Gangapur City : 27 वर्षीय युवक का पत्थरों से पीट-पीटकर हत्या, शहर में फैली सनसनी

गंगापुर सिटी जिला मुख्यालय जयपुर हाईवे पर एक निजी अस्पताल के पास खाली प्लॉट में 26 – 27 वर्षीय युवक का अल सुबह शव मिलने से सनसनी फैल गई। आसपास के लोगों की सूचना पर सदर थाना, कोतवाली और उदेई मोड़ थाना अधिकारी सहित एएसपी राकेश राजोरा और बाद में एसपी सुजीत शंकर मौके पर पहुंचे और घटना स्थल का जायजा लिया। इसके बाद पुलिस ने शव को गंगापुर सिटी जिला चिकित्सालय लेकर गयी और शव को मोर्चरी में रखवाया गया।
FSL की टीम द्वारा मौके पर पहुँच कर साक्ष जुटाए गए। घटनास्थल पर मृतक का चेहरा और सिर पत्थरों से कुचला गया था और पत्थरों से सिर कुचलने के दौरान खून के छीटे दीवार और पत्थरों पर स्पष्ट दिखाई दे रहे थे। सूचना पर मौके पर पहुंचे परिजनों ने युवक की हत्या का आरोप लगाया।
जानकारी के अनुसार गंगापुर सिटी जयपुर हाईवे पर एक निजी अस्पताल के सामने खाली प्लॉट में सुबह करीब 8:00 बजे आसपास लोगों को शव पड़ा हुआ दिखाई दिया। इसकी उन्होंने पुलिस को सूचना दी। सूचना के बाद सदर थाना अधिकारी पन्नालाल और इसके बाद कोतवाली थाना अधिकारी जितेंद्र और उदेई मोड़ थाना अधिकारी नरेश पोसवाल मौके पर पहुंचे। सूचना के थोड़ी देर बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश राजौरा और उनके बाद पुलिस अधीक्षक सुजीत शंकर भी मौके पर पहुंच गए। घटनास्थल पर पुलिस को एक युवक का शव छत – विछत अवस्था में पड़ा हुआ मिला, मौके पर ही एक बाइक भी खड़ी हुई थी। बाद में पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर गंगापुर सिटी गवर्नमेंट हॉस्पिटल लेकर आई और शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया।
मृतक की पहचान अंकित उर्फ नीलू मीणा (27) पुत्र रामबाबू मीणा हाल निवासी सालोदा जिला मुख्यालय गंगापुर सिटी और मृतक का गांव बिनेगा के रूप में हुई है। पुलिस की सूचना पर मृतक के परिजन पिता रामबाबू मीणा और अन्य परिजन घटनास्थल पर पहुंचे और यहां से बाद में गवर्नमेंट हॉस्पिटल आए। मृतक के पिता ने अपने बेटे की हालत को देखकर हत्या का आरोप लगाया। पिता का कहना था कि शुक्रवार रात करीब 8:00 बजे अंकित से उनकी फोन पर बात हुई थी और फोन पर बात होने के बाद अंकित के मोबाइल पर 160 रुपए भी डाले थे। परिजनो ने पहले आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की, पुलिस अधिकारियों ने परिजनों को समझाया और शीघ्र आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। अधिकारियों की समझाइश के बाद परिजनों की मौजूदगी में पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाने की कवायद शुरू की। वहीं दूसरी और एफएसएल की टीम भी मौके पर पहुंची और टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाए। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।
बच्चों के सिर से उठा पिता का साया –
मृतक के पिता रामबाबू ने बताया कि अंकित चार भाइयों में सबसे छोटा था। अंकित से तीन बड़े भाई थे। इनमें सबसे बड़ा आशीष, दूसरे नंबर का भवानी और तीसरे नंबर का अजय था, अंकित सबसे छोटा चौथे नंबर का था। उन्होंने बताया कि अंकित की शादी हो चुकी है और अंकित के एक 7 साल का बेटा और 3 साल की बेटी है। पिता ने कहा कि अंकित की मौत से दोनों बच्चों के सिर से पिता का साथ छूट गया।

 

यह भी पढ़ें :   Rajasthan : आरपीएससी ने जारी की 6 परीक्षाओं की तारीख, 16 हजार 354 पदों के लिए आयोजित की जाएंगी परीक्षाएं।